ओम नीरव

मंगलवार, 24 मई 2016

काव्य गोष्ठी इटौंजा लखनऊ

            अखिल भरतीय सृजन संस्थान "कवितालोक" के तत्वावधान में प्रथम काव्यशाला का आयोजन इटौंजा की डी पी एस अकादमी में व्यवस्थापिका श्रीमती शैल सिंह के सौजन्य से दिनांक 21 मई 2016 को किया गया। आयोजन की अध्यक्षता कवि श्रेष्ठ श्री शरद पाण्डे 'शशांक' जी ने की और संयोजन एवं संचालन युवा कवि राहुल द्विवेदी स्मित ने किया। मुख्य अतिथि के रूप में श्री कुमार तरल जी और विशिष्ट अतिथि के रूप में श्री अजय प्रसून जी, श्री भ्रमर बैसवारी जी व श्री कमलेश मौर्य 'मृदु' जी उपस्थित रहे। काव्यशाला का प्रारम्भ उमाकांत पाण्डे जी की सुमधुर वाणी वंदना से हुआ जिसके बाद संस्थान के संरक्षक ओम नीरव ने काव्यशाला की रूपरेखा पर प्रकाश डालते हुए कहा की वनिता के सौंदर्य में मर्यादा का जो स्थान है , कविता के सौंदर्य में शिल्प का वही स्थान है । इस अवसर पर अनेक कवियों ने छंद, मुक्तक, गीत, गीतिका, ग़ज़ल, व्यंग्य आदि के द्वारा श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर लिया ।

        अंत मे उमाकांत पाण्डेय 'सरस' जी व गौरव पाण्डेय जी की रचनाओं की समीक्षा करते हुए ओम नीरवजी ने काव्य शिल्प के महत्वपूर्ण तत्वों पर प्रकाश डाला और यह घोषणा भी की कि कवितालोक की ऐसी ही मासिक काव्यशालाओं का आयोजन लखनऊ के विकास नगर और नाका हिंडोला के साथ-साथ सुल्तानपुर, टटीरी बागपत, जयपुर, सालासर (राजस्थान) आदि स्थलों पर आगामी मासों में प्रारम्भ होने जा रहा है । इस अवसर पर काव्य पाठ करने वाले कवियों में मुख्य थे - शरद पाण्डे शशांक जी, कुमार तरल जी , भ्रमर बैसवारी जी, अजय प्रसून जी , कमलेश मौर्य मृदु जी , कमल किशोर अवस्थी जी , केवल प्रसाद सत्यम जी, उमाकांत पाण्डे जी , गौरव पाण्डे रूद्र जी, राहुल द्विवेदी 'स्मित' जी , शिवांगी दीक्षित, हरीश लोहुमी जी, राजेन्द्र शुक्ल 'राज' जी, अशोक अवस्थी जी, मंजुल मंजर जी, संजय सांवरा जी, कलीम इटौन्जवी जी, मुकेश कुमार मिश्र जी, सर्वेश श्रीवास्तव 'सरस' जी, मनमोहन बाराकोटी जी, राजेन्द्र कुमार शुक्ल राज जी, मज़हर अली अब्बास जी, भैरव नाथ पाण्डे जी, सुंदर लाल सुन्दर जी, भानु प्रताप मौर्य 'अंश' जी, गोबर गणेश जी, अनिल अनाड़ी जी, गौरी शंकर वैश्य 'विनम्र' जी, सचिन मिश्र जी, संदीप अनुरागी जी, शिखर अवस्थी जी , मिजाज लखनवी जी, सरोजनी सिंह जी आदि।

             कवितालोक, लखनऊ