ओम नीरव

रविवार, 16 अक्तूबर 2016

'करते शब्द प्रहार' का लोकार्पण, जयपुर

(ममता लड़ीवाल जी के शब्दों में)
=======================

           कवितालोक के वरिष्ठ सदस्य एवं चतुष्पदी समारोह के संचालक वयोवृद्ध कवि श्री लक्ष्मण रामानुज लड़ीवाला जी के प्रथम छांदस काव्य संकलन 'करते शब्द प्रहार' का लोकार्पण समारोह और कवितालोक जयपुर की प्रथम काव्य संध्या का आयोजन 12 अक्टूबर 2016 को जयपुर के अपैक्स इंस्टिट्यूट,मानसरोवर में आयोजित हुआ। मुख्य अतिथि देवर्षि कलानाथ शास्त्री जी और अध्यक्ष आदरणीय ओम नीरव जी (लखनऊ) की गरिमामयी उपस्थिति में कार्यक्रम बहुत ही सफल रहा और उत्कर्ष तक पहुंचा। विमोचन समारोह का संचालन आदरणीया शोभा चंदर जी ने किया । विमोचन के उपरांत जल पान और बाद में कवितालोक काव्य संध्या का संचालन आदरणीय भूपेंद्र भरतपुरी जी एवं विजय मिश्र दानिश जी ने किया जिसमें अपने काव्य पाठ से श्रोताओं की रस विभोर करने वाले कवियों में मुख्य थे -:-:-

भोपाल से आदरणीय अशोक व्यग्र जी और दानिश जयपुरी जी।

नई दिल्ली से ममता लड़ीवाल जी।
बनारस से उदय प्रताप द्विवेदी जी।
बागपत से राजेश मंडार जी।
भीलवाड़ा से हरिओम सोनी 'हैरत' जी।
ब्यावर से वीणा शर्मा जी।
जयपुर से चंदर पारीक जी, सुनील जश्न जी, सुरेश गोस्वामी जी, सुशील सरना जी, विनीता सुराणा 'किरण' जी, साधना प्रधान जी, विपुल जैन जी, उजला लोहिया जी, शिवानी शर्मा जी, कविता मुखर जी, ज्योत्स्ना सक्सेना जी आदि।       
            इस अवसर पर आमंत्रित सभी कवियों को स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित किया गया। 6 घंटे तक चले इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे आदरणीय ओम नीरव जी ने अंत में सभी को झूमने पर मजबूर कर दिया, मनमोहक एवं अति सुन्दर प्रस्तुति ने सभी को हर पंक्ति पर ताली बजाने पर विवश कर दिया। इस अवसर पर आमंत्रित सभी कवियों को स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित किया गया।
      इतने सुन्दर आयोजन का हिस्सा होते हुए मुझे गर्व का अनुभव हो रहा है।
                     जय माँ शारदे !

ममता लड़ीवाल
(पुत्री)
नई दिल्ली